Tuesday, May 8, 2018

वर्णों की यायावरी



वर्णों की यायावरी से
‘शब्द’ परेशान हैं
‘व्याकरण’ खीझता सा खड़ा है
‘भाव’ व्यथित-हैरान है
कल दिखा ‘ख’ वर्ण
खंजर लिए हुए
‘म’ वर्ण मिला दहशत का
मंजर लिए हुई
फटेहाल दिखा ‘अनुच्छेद’
मलीन ‘पैराग्राफ’ के चेहरे पर
अब भी जख्मों के
अनगिनत निशान हैं,
वर्णों की यायावरी से
‘शब्द’ परेशान हैं
पत्रिकाओं की पीढियां
आत्महत्या कर रहीं हैं,
मकड़ी के जालों के बीच दुबकी
किताबें डर रहीं हैं,
असंदर्भित हो गये हैं
अनगिनत सन्दर्भ ग्रन्थ,
‘रिसाले’ शायद अब  
कुछ ही दिनों के मेहमान हैं
वर्णों की यायावरी से
‘शब्द’ परेशान हैं.

11 comments:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (11-05-2018) को "वर्णों की यायावरी" (चर्चा अंक-2967) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Dhruv Singh said...

आदरणीय / आदरणीया आपके द्वारा 'सृजित' रचना ''लोकतंत्र'' संवाद मंच पर 'सोमवार' १४ मई २०१८ को साप्ताहिक 'सोमवारीय' अंक में लिंक की गई है। आमंत्रण में आपको 'लोकतंत्र' संवाद मंच की ओर से शुभकामनाएं और टिप्पणी दोनों समाहित हैं। अतः आप सादर आमंत्रित हैं। धन्यवाद "एकलव्य" https://loktantrasanvad.blogspot.in/

टीपें : अब "लोकतंत्र" संवाद मंच प्रत्येक 'सोमवार, सप्ताहभर की श्रेष्ठ रचनाओं के साथ आप सभी के समक्ष उपस्थित होगा। रचनाओं के लिंक्स सप्ताहभर मुख्य पृष्ठ पर वाचन हेतु उपलब्ध रहेंगे।

Dhruv Singh said...

निमंत्रण

विशेष : 'सोमवार' २१ मई २०१८ को 'लोकतंत्र' संवाद मंच अपने साप्ताहिक सोमवारीय अंक के लेखक परिचय श्रृंखला में आपका परिचय आदरणीय गोपेश मोहन जैसवाल जी से करवाने जा रहा है। अतः 'लोकतंत्र' संवाद मंच आप सभी का स्वागत करता है। धन्यवाद "एकलव्य" https://loktantrasanvad.blogspot.in/



टीपें : अब "लोकतंत्र" संवाद मंच प्रत्येक 'सोमवार, सप्ताहभर की श्रेष्ठ रचनाओं के साथ आप सभी के समक्ष उपस्थित होगा। रचनाओं के लिंक्स सप्ताहभर मुख्य पृष्ठ पर वाचन हेतु उपलब्ध रहेंगे।

Splendid Interiors said...

Well this is awesome and well shared by you. I really like your posts here. Thank you and keep sharing.
Find the best Residential Interior Design in Visakhapatnam

Niti Chauhan said...

This is awesome. I really like your poem. I shared this poem with me friend this site Towing truck service near me. My friend like your poem i gained many like from this post.

Dhruv Singh said...

आवश्यक सूचना :
अक्षय गौरव त्रैमासिक ई-पत्रिका के प्रथम आगामी अंक ( जनवरी-मार्च 2019 ) हेतु हम सभी रचनाकारों से हिंदी साहित्य की सभी विधाओं में रचनाएँ आमंत्रित करते हैं। 15 फरवरी 2019 तक रचनाएँ हमें प्रेषित की जा सकती हैं। रचनाएँ नीचे दिए गये ई-मेल पर प्रेषित करें- editor.akshayagaurav@gmail.com
अधिक जानकारी हेतु नीचे दिए गए लिंक पर जाएं !
https://www.akshayagaurav.com/p/e-patrika-january-march-2019.html

Book river Press said...

Find best book publisher in India to publish your book with High royalty

Internet Day said...
This comment has been removed by the author.
Internet Day said...
This comment has been removed by the author.
BHBUJJWALSAINI said...

Thanks you sharing information.
You can also visit on
How to think positive

How to control anger

123456 said...

thanks you for sharing this article with us it helps me a lot can anyone tell me aboutAmerican eagle credit card