Monday, October 26, 2009

१०००वी टिप्पणी तक का सफर ~~

कुल ४२ पोस्ट और १००० टिप्पणियाँ, ६५ समर्थक, सफर अवधि ५ महीने और १४ दिन
हमसफ़र, हमखायालों और शुभचिंतको को मेरा साधुवाद
1०००वे टिप्पणीकर्ता आर्जव ब्लॉग वाले श्री अभिषेक कुशवाहा जो मेरे गृहनगर वाराणसी के हैं, जिन्होंने मेरे ब्लॉग जज़्बात के पोस्ट मुझे गोली मार दो पर १०००वी टिप्पणी दी। बहुत बहुत धन्यवाद अभिषेक

31 comments:

महफूज़ अली said...

aapko bahut bahut badhai..... yeh 1001 veen meri tipaani......... hehehe....

Aarjav said...

जी ऐन मौके पर तो घर वाले ही काम आते है...........:) ........
बहुत बहुत बधाईया अब तक के इस शानदार सफर के लिए ......!!!

अनूप शुक्ल said...

वाह बधाई है जी!

राज भाटिय़ा said...

बहुत बहुत बधाई है जी!

AlbelaKhatri.com said...

मेरी हार्दिक हार्दिक बधाइयां और अगली १००० के लिए शुभकामनायें..............

Udan Tashtari said...

वाह साहब, छा गये. बहुत बधाई!! ऐसे ही बढ़ते चलें.

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर said...

♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥
बहुत बहुत बधाई है

♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥


हेपी ब्लोगिग
हे! प्रभु यह तेरापन्थ
SELECTION & COLLECTION

शरद कोकास said...

बधाई हो वर्मा जी ।

उन्मुक्त said...

बधाई।

योगेश स्वप्न said...

badhai ho verma ji, 2000 bhi jald hon shubhkaamnayen.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

टिप्पणीरूपी 1000 रन बनाने के लिए,
शुभकामनाएँ!

वाणी गीत said...

बहुत बधाई व् शुभकामनायें ...!!

पी.सी.गोदियाल said...

लीजिये जनाव , १०१४वी टिपण्णी संभालिये !
हार्दिक बधाई !!

पी.सी.गोदियाल said...

नोट: तेरहवी टिपण्णी जानबूझ कर नहीं कही !

sada said...

बहुत - बहुत बधाई एवं शुभकामनायें ।

निर्झर'नीर said...

bandhai swikaren..

खुशदीप सहगल said...

ये सिलसिला चले सालों-साल, हर साल टिप्पणियां हो पचास हज़ार..

जय हिंद...

दर्पण साह "दर्शन" said...

badhai ji....

chalo aapki kuch aur post padh ke dekha jaiye...
:)

वन्दना said...

बहुत बहुत हार्दिक बधाई।

Dipak 'Mashal' said...

bahut saari dher bhar ke badhaiyaan Verma ji....
Jai Hind.

ज्ञानदत्त पाण्डेय| Gyandutt Pandey said...

अरे आगे बहुत मुकाम आयेंगे। बस निरंतर बने रहें!
बधाई।

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बहुत बहुत बधाई आपको ..लिखते रहे यूँ ही .शुक्रिया

डॉ टी एस दराल said...

भाई वर्मा जी, ये तो वास्तव में ही काबिले तारीफ है.
आपकी लेखनी में दम है. बधाई

दिगम्बर नासवा said...

बहुत बहुत बधाई ....... मुबारक आपकी लेखनी का जादू चल रहा है .........

ताऊ रामपुरिया said...

बहुत बहुत बधाई.

रामराम.

चंदन कुमार झा said...

अरे वाह !!! आपको बहुत बहुत शुभकामनायें ।

cmpershad said...

हज़ारवी टिप्पणी तो पार कर ही चुके हो... अब बढों दसहज़ारी की ओर:) शुभकामनाएं॥

विनोद कुमार पांडेय said...

बहुत बहुत बधाई ...अभी तो शुरुआत है बहुत सारी टिप्पणियाँ और पसंद मिलेगी...

Babli said...

१००० वी टिप्पणियों के लिए ढेर सारी बधाइयाँ और शुभकामनायें !

Sudhir (सुधीर) said...

बहुत बहुत बधाई!!

कमलेश वर्मा said...

बधाई हो आपको आपकी रचनाओं के प्रेरणा श्रोत को ,नमन वर्मा जी