Sunday, June 3, 2012

तुम पहाड़ पर चढ़ो ….

image

तुम पहाड़ पर चढ़ो

हम तुम्हारी सफलता के लिए

दुआएं करेंगे;

तुम जमीन खोदकर

पाताल में उतर जाओ,

जब तक तुम

बाहर नहीं आ जाते

हम तुम्हारे लिए

फिक्रमंद रहेंगे.

हम लड़ रहे हैं;

लड़ते रहेंगे तुम्हारे लिए.

तुम चिलचिलाती धूप में

रेतीली जमीन पार कर

उस पार जब पहुंचोगे,

हवाई मार्ग से पहुंचकर

हम तुम्हे वहीं मिलेंगे,

भरे मंच पर

तुम्हारा सम्मान करेंगे;

तुम्हारे अथक श्रम की

भूरि-भूरि सराहना और

तुम्हारी जीजिविषा का

गुणगान करेंगे.

तुम निश्चिन्त रहो,

हमने तो

तुम्हारे जीवन के एवज में

मुआवजे भी तजबीज रखें हैं,

हमारे लिए तुम्हारा जीवन

बेशकीमती है,

तुम बेख़ौफ़ होकर

पहाड़ पर चढ़ो

हम तुम्हारी सफलता के लिए

दुआएं करेंगे

43 comments:

देवेन्द्र पाण्डेय said...

महीन कटाक्ष।
आनंद आ गया पढ़कर।
हमारी बधाई स्वीकार करें सर जी।

expression said...

चुभेगा ज़रूर...................

बहुत बढ़िया .

सादर.

प्रतिभा सक्सेना said...

वाह,क्या खूब चढ़ाया है इमली के झाड़ पर !

dheerendra said...

बहुत बढ़िया कटाक्ष ,सुंदर रचना,,,,,

RESENT POST ,,,, फुहार....: प्यार हो गया है ,,,,,,

सुशान्त said...

सुन्दर कटाक्ष है,हर किसी के जीवन में कुछ ऐसे लोग अवश्य ही मिलते होंगे जो आपको पहाड पर चढाते होंगे और अपना ऊल्लू सीधा करते होंगे
सुन्दर कविता है .......

प्रेम सरोवर said...

बहुत सुंदर । मेरे नए पोस्ट पर आप सादर आमंत्रित हैं । धन्यवाद ।

रश्मि प्रभा... said...

तुम बेख़ौफ़ होकर
पहाड़ पर चढ़ो
हम तुम्हारी सफलता के लिए
दुआएं करेंगे... हमारे पास यह तो है ही

प्रवीण पाण्डेय said...

सारा देश बस दुआघर बन गया है, सब बस कुछ हो जाने की दुआ कर रहे हैं।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

पर हम कुछ नहीं करेंगे . सिवाय दुआ करने के ... तीखा कटाक्ष

Rajesh Kumari said...

आपकी इस उत्कृष्ठ प्रविष्टि की चर्चा कल मंगल वार 5/6/12 को राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी |

अनुपमा पाठक said...

मीठास के साथ किया गया गहरा कटाक्ष!

ana said...

utkrisht rachana

सदा said...

गहन भाव संयोजित किये हैं आपने ... आभार ।

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी said...

वाह... उम्दा, बेहतरीन अभिव्यक्ति...बहुत बहुत बधाई...

दिगम्बर नासवा said...

आम आदमी और कर भी क्या सकता है ... बस कर ही सकता है .. बाकी सब काम तो वो (देश के कर्णधार) कर ही लेंगे ...
गहरा कटाक्ष है इस रचना में ...

वन्दना said...

गहरा कटाक्ष!

sushma 'आहुति' said...

gahan abhivaykti.....

अरूण साथी said...

सुन्दर अभिव्यक्ति,भावपूर्ण

करारा.

डॉ टी एस दराल said...

आम आदमी की खास कहानी .

Amrita Tanmay said...

हाय ! सफलता की यही कहानी...चुभोती हुई..

Rewa said...

wah ! umda....kataksh bhi pyar say...

Rewa said...
This comment has been removed by the author.
Anjani Kumar said...

तुम पहाड़ पर चढ़ो....तीक्ष्ण व्यंग्य

Kailash Sharma said...

बहुत सार्थक और सटीक कटाक्ष...बहुत सुन्दर

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

तुम चिलचिलाती धूप में
रेतीली जमीन पार कर
उस पार जब पहुंचोगे,
हवाई मार्ग से पहुंचकर
हम तुम्हे वहीं मिलेंगे, ....

जबरदस्त प्रहार..... अत्यंत प्रभावशाली रचना...
सादर.

ravikumarswarnkar said...

बेहतर जनाब...

Reena Maurya said...

बेहद तीखा कटाक्ष
बहुत ही बेहतरीन और सार्थक रचना...

अरुन शर्मा said...

अत्यधिक सुन्दर कटाक्ष
(अरुन =arunsblog.in)

अरुन शर्मा said...

सुन्दर कविता
(अरुन =arunsblog.in)

आशा जोगळेकर said...

हम तो बस इतना ही कर सकते हैं ।

VIJAY KUMAR VERMA said...

हम तुम्हारी सफलता के लिए

दुआएं करेंगे
बहुत ही सुन्दर रचना

mridula pradhan said...

तुम पहाड़ पर चढ़ो
हम तुम्हारी सफलता के लिए
दुआएं करेंगे......saral.....sunder shabd.

mridula pradhan said...

saral bhaw तुम पहाड़ पर चढ़ो
हम तुम्हारी सफलता के लिए
दुआएं करेंगे;.....

रचना दीक्षित said...

तुम बेख़ौफ़ होकर
पहाड़ पर चढ़ो
हम तुम्हारी सफलता के लिए
दुआएं करेंगे.

नए अंदाज़ की कविता.
आभार.

veerubhai said...

हमारे लिए तुम्हारा जीवन

बेशकीमती है,

तुम बेख़ौफ़ होकर

पहाड़ पर चढ़ो

हम तुम्हारी सफलता के लिए

दुआएं करेंगे
बहुत सटीक और सीधी बात की तरह है भाई साहब .नेताओं पर तंत्र लोक के रहनुमाओं पर .

Anju (Anu) Chaudhary said...

वाह बहुत खूब ....गहरा कटाक्ष

किसी भी वक्त ...किसी की भी दुआ काम कर जाती हैं

Jyoti Mishra said...

this is a very beautiful n deep post...
sarcasm at its best !!!

Shanti Garg said...

बहुत बेहतरीन व प्रभावपूर्ण रचना....
मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है।

vandana said...

गहन भाव समेटे रचना

सोनरूपा विशाल said...

आज के समय का सच ......

Siddharth Garg said...

Great post. Check my website on hindi stories at http://afsaana.in/ . Thanks!

anand.editsoft said...
This comment has been removed by the author.
anand.editsoft said...

This was a nice post. Thanks for sharing such types of posts. We would recommend you to go to afsaana for new stories. Thanks